कुसुम सोलर पंप योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन / फॉर्म – सब्सिडी वाले सौर ऊर्जा कृषि पम्प Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan – KUSUM - Gram Chaupal

Breaking

DIGITAL BHARAT KI CHAUPAL

Wednesday, 11 November 2020

कुसुम सोलर पंप योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन / फॉर्म – सब्सिडी वाले सौर ऊर्जा कृषि पम्प Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan – KUSUM

 केंद्र सरकार कुसुम सोलर पंप योजना 2020-21 के लिए kusum.online पर ऑनलाइन पंजीकरण / आवेदन पत्र आमंत्रित कर रही है। मोदी सरकार वित्त वर्ष 2022 (FY 2022) तक किसान उर्जा सुरक्षा उत्थान महाभियान (Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan – KUSUM) योजना के तहत किसानों को 3 करोड़ सौर पंप प्रदान करेगी। ये सब्सिडीकृत सौर कृषि पंप (Solar Agriculture Pumps Subsidy Yojana) वर्तमान में बिजली और डीजल से चलने वाले कृषि पंपों की जगह लगाए जाएंगे। कुसुम सोलर पंप योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए जो kusum.online वेबसाइट थी उसे सरकार ने बंद कर दिया है।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2020 का मुख्य उद्देश्य किसानों को बिजली पैदा करने के लिए उन्नत तकनीक प्रदान करना है। इस सरकारी योजना के अंदर दिये जाने वाले सौर पंपों के दोहरे लाभ हैं क्योंकि यह किसानों को सिंचाई में सहायता तो करेंगे ही साथ ही साथ किसानों को साफ और सुरक्षित ऊर्जा पैदा करने में भी सहायता करेंगे। क्यूंकि इन पंप सेटो में ऊर्जा पावर ग्रिड दिये गए हैं, जिसकी वजह से किसान अतिरिक्त बिजली सीधे सरकार को बेच सकते हैं जिससे उनकी आय भी बढ़ेगी।

केंद्रीय सरकार द्वारा 1 फरवरी 2020 को पास किए गए यूनियन बजट में किसानों के लिए नए प्रावधान भी किए गए हैं जिससे कुसुम योजना (KUSUM Yojana) में अब 20 लाख किसान कृषि सौर पंप लगा सकते हैं। यह कुसुम सोलर पंप किसी भी बंजर जमीन पर आसानी से लग सकते हैं। इसके अलावा किसान अधिक बिजली को बेच कर पैसा भी कमा सकते हैं। यूनियन बजट 2020-21 में किसानों के लिए 1,42,761 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। जो पिछली बार के मुकाबले 30 फीसदी ज्यादा है।

ताजा जानकारी (10 जुलाई 2020) – हम आपको बता देना चाहते हैं की 3 ऐसी फेक वेबसाइट सरकार ने पकड़ी हैं जो कुसुम सोलर पंप योजना के नाम पर लोगों से एप्लीकेशन फॉर्म भरवा रही थी जो पूरी तरह से फेक है इसलिए हम एक जिम्मेदार वेबसाइट होने के नाते आपसे आग्रह करते हैं ऐसे किसी भी पोर्टल पर अपनी निजी जानकारी ना दें क्यूंकि सरकार जल्द ही कोई नया पोर्टल शुरू करेगी जहां पर आप सोलर पंप के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। जो तीन फेक वेबसाइट हैं उनकी सूची नीचे दी गई है:

1) https://kusum-yojana.co.in/
2) https://www.onlinekusumyojana.co.in/
3) http://onlinekusumyojana.com/

प्रधानमंत्री कुसुम सोला पंप योजना हेल्पलाइन नंबर

हेल्पलाइन नंबर
011-2436-0707, 011-2436-0404

टोल फ्री नंबर
1800-180-3333

अन्य वेबसाइट – www.mnre.gov.in
Scheme Implementation: https://mnre.gov.in/img/documents/uploads/file_f-1580894805576.PDF

कुसुम योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन पत्र / रजिस्ट्रेशन

 kusum.online पोर्टल नहीं चल रहा है इसलिए किसी भी तरह की जानकारी के लिए आप कुसुम योजना के हेल्पलाइन टोल फ्री नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं 011-2436-0707, 011-2436-0404, 1800-180-3333 या फिर दूसरे सरकारी पोर्टल https://mnre.gov.in/ पर जा सकते हैं।

नीचे जो भी प्रक्रिया कुसुम सोलर पंप योजना के रजिस्ट्रेशन के लिए बताई गई है वह पुरानी वाली ही है:

  • उम्मीदवार पहले आधिकारिक वेबसाइट kusum.online पर जायें।
  • वेबसाइट के मेन पेज पर “आवेदन करें” ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको Kusum Yojana online registration form दिखाई देगा।
  • यहाँ पर आवेदक को अपनी जानकारी जैसे की अपना नाम, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी आदि डालकर Kusum Scheme 2020 registration process को पूरा करने के लिए “Submit” बटन पर क्लिक करना है।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद Solar Agricultural Pumpset Subsidy Scheme 2020-21 के लिए लॉगिन करना होगा।

  • होमपेज पर Kusum Yojana 2020 Login करने के बाद उम्मीदवार सब्सिडी पर सोलर पंप लेने के लिए Kusum Yojana online application form भर सकता है।
प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2020-21 अपडेटेड दिशा-निर्देश देखने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें:
पीएम कुसुम योजना दिशा-निर्देश 2020-21
केंद्र सरकार ने किसानों को सौर कृषि पंपों के साथ सभी मौजूदा डीजल और इलेक्ट्रिक पंपों को बदलने के लिए वित्त वर्ष 2018 में कुसुम योजना शुरू करने का फैसला किया था। इन सौर कृषि पंपों पर सरकार पूरे देश में सभी योग्य किसानों को सब्सिडी के रूप में कुल लागत का 60% प्रदान करेगी।
इसके अलावा बैंक किसानों को लोन के रूप में कुल खर्च का 30% प्रदान करेगी। कुसुम योजना 2020 की प्लानिंग के अनुसार ये संयंत्र केवल बंजर भूमि/क्षेत्रों पर लगाए जाएंगे, जिससे 28000 मेगावाट बिजली पैदा करी जा सकती है। इसके अलावा 10 फरवरी 2020 से मोदी सरकार पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड भी दे रही है जिससे वे कृषि से संबंधित किसी भी कार्य के लिए 3 लाख तक का लोन आसानी से ले सकते हैं।



No comments:

Post a comment